BG
आचार्य/आचार्यो : ज्योतिषाचार्य नितिन व्यास जी
 
अनुभव:
शिक्षा:
स्थाई पता:
संपर्क सूत्र:
  
25 वर्ष
परस्नातक (वाणिज्य)
म.न.2857, पहली मंजिल, सेक्टर.37सी, चण्डीगढ-160036, पंजाब  
  +91 9821 608066, 9821 608067.
email:  researchastroindia@gmail.com  
परिचय-:

ज्योतिषाचार्य नितिन व्यास जी भारत के ऐसे ज्योतिषाचार्यों में से एक जिनकी भविष्यवाणी शास्त्रों पे आधारित तर्कपूर्ण होते हैं साथ ही उनके बताये गये उपाय बिल्कुल आसान होते हैं। आचार्य जी रत्न, भाग्यशाली रत्न, जन्म रत्न, रुद्राक्ष माला, हस्तरेखाविद्, जन्म पत्री, कुंडली मिलान आदि के विशेषज्ञ माने जाते हैं।

आज ऐसे ज्योतिषाचार्यों की कमी नहीं है जो मंगल दोष या काल सर्प दोष, शनि की साढ़े साती या फिर राहु-केतु के नाम पर डराकर बड़े-बड़े उपाय कराते हैं, जिसमें आपके हजारों, लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं। ज्योतिषाचार्य नितिन व्यास जी का कहना है कि किसी भी प्राचीन वैदिक ज्योतिष ग्रंथों में काल सर्प दोष का कोई जिक्र नहीं है, बल्कि 20वीं सदी की शुरुआत में कुछ ज्योतिषाचार्यों ने इसका जिक्र किया था।

आचार्य जी का कहना है कि केवल पैसे की लालच में ही बहुत से ज्योतिषाचार्य लोगों को कालसर्प, मांगलिक दोष आदि के नाम से डराते हैं। आचार्य जी ने सचिन तेंदुलकर, जवाहरलाल नेहरू, सौरव गांगुली, धीरूभाई अंबानी, रजनीकांत, नेल्सन मंडेला जैसे महान नामों का उदाहरण देते हुए समझाया है कि इन सभी के जन्म कुंडली में काल सर्प दोष है, लेकिन आज वो दुनिया के महान नामों में शूमार हैं।

ज्योतिषाचार्य नितिन व्यास जी की गणना वैज्ञानिक पद्धति पर आधारित होती है, जिससे वो सठीक भविष्यवाणी कर पाते हैं। साथ ही उनके उपाय इतने आसान होते हैं कि कोई भी कर सकता है। राहु-केतु को शांत करने के लिए जहां बाकी ज्योतिषाचार्य आपसे हजारों रुपए लेते हैं,

जबकि आचार्य जी चींटियों को आटा खिलाना, मछलियों को खाना खिलाना, लोगों को न्याय दिलाने में मदद करना, रिश्वत न लेना, गाय को चारा खिलाना, ओम का जाप करना आदि छोटे-छोटे उपायों से ही आपकी समस्या को हल कर देते हैं।



ज्योतिषाचार्य नितिन व्यास जी के आगामी कार्यक्रम:
आप सोमवार से शनिवार 10:00AM से 18:00PM के बीच अपनी समस्याओं के निदान हेतु एवं व्यक्तिगत रूप से मिलने के लिए संपर्क कर सकते हैं। संपर्क सूत्र-:+91 9821 608066, 9821 608067.

Designed & Developed By : Virtuoso IT Solutions Pvt. Ltd.