BG
Media Promotions                              
आचार्य/आचार्यो : आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी
 
अनुभव:
शिक्षा:
स्थाई पता:
संपर्क सूत्र:
   ग्रहसंकेत ज्योतिष कार्यालय www.kalsarpyog.com
24 वर्ष
एमएससी
417-ग्रहसंकेत, मेनरोड, मु.पो.त्र्यंबकेश्वर नाशिक,महाराष्ट्रा. (नियर सत्यनारायण मंदिर)  
  +91 9821-608066, 9821-608067(What'sapp no).
email:  researchastroindia@gmail.com  
परिचय-:

हर इंसान का एक सपना होता है कि वो एक खुशहाल जीवन व्यतीत करे, उसके घर में हमेशा सुख और समृद्धि बनी रहे, लेकिन क्या ऐसा होता है? नहीं! हर किसी के जिन्दगी में कोई न कोई परेशानी जरुर होती है और ये परेशानियां होती हैं, ग्रहों की चाल की वजह से, लेकिन अगर सही समय पर एक सही मार्गदर्शक मिल जाये तो हम काफी हद तक इन परेशनियों से छुटकारा पाकर एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं।

ऐसे ही एक मार्गदर्शक हैं जाने-माने ज्योतिषाचार्य भूषण सांभ शिखरे (पवईकर) जी, जिन्होंने करीब ढ़ाई दशकों में अब तक सात लाख से भी ज्यादा लोगों की जिन्दगी को खुशहाल बनाया है।

ज्योतिषाचार्य भूषण सांभ शिखरे जी देश के जाने माने ज्येतिषाचार्यों में से एक हैं। आचार्य जी को वैसे तो ज्योतिष के क्षेत्र में 24 वर्षों से भी ज्यादा का अनुभव है, लेकिन कहीं न कहीं ज्योतिष का ज्ञान उनमें पहले से ही विद्यमान था क्योंकि उनके पूर्वज पिछले करीब 1200 वर्षों से पुरोहित एवं ज्योतिष के रुप में काम करते आ रहे हैं।

आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी के दादाजी स्वर्गीय श्री शंकर सखराम शिखरे जी पिछली सदी के सबसे बड़े पुरोहितों में से एक थे। इसके बाद उनके पिता स्वर्गीय श्री संभ शंकर शिखरे जी ने भी उसी परंपरा को आगे बढ़ाया और त्र्यम्बकेश्वर में वो 35 वर्षों कर पुरोहित रहे।

आचार्य भूषण जी सभी प्रकार के हिंदू पूजा-पाठ के अलावा कालसर्प शांति, नारायण नागबलि पूजा, त्रिपिन्दी श्राद्ध आदि के विशेषज्ञ थे और अब उनके पुत्र आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी न सिर्फ उस परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं, बल्कि उसमें कुछ और नये आयाम जोड़ रहे हैं।

आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी आज एक पुरोहित के अलावा एक जाने-माने ज्योतिषाचार्य भी हैं। आचार्य जी ने 1990 से लेकर 1994 तक पारंपरिक भारतीय ज्योतिष की पढ़ाई की, लेकिन उन्हें इसमें कुछ समस्याएं नजर आयीं, जिसके बाद उन्होंने कृष्णमूर्ति पद्धति को सीखना शुरु किया।

आज आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी कुंडली निर्माण, कुंडली मिलान, कुंडली विश्लेषण आदि के लिए कृष्णमूर्ति पद्धति का ही इस्तेमाल करते हैं क्योंकि इसके की गई गणना एवं भविष्यवाणी एकदम सटीक होती

आचार्य भूषण सांभ शिखरे जी के आगामी कार्यक्रम:
आप सोमवार से शनिवार 10:00AM से 18:00PM के बीच अपनी समस्याओं के निदान हेतु एवं व्यक्तिगत रूप से मिलने के लिए संपर्क कर सकते हैं। संपर्क सूत्र-:+91 9821-608066, 9821-608067(What'sapp no).

Designed & Developed By : Virtuoso IT Solutions Pvt. Ltd.